मात्र एक घंटे में होगी अब छत्तीसगढ़ की एक जगह से दूसरी जगह की हवाई यात्रा

रायपुर। छत्तीसगढ़ में घरेलू विमान सेवा के लिए तीनों प्रमुख एयरपोर्ट बिलासपुर, जगदलपुर और अंबिकापुर पूरी तरह तैयार किए जा चुके हैं। 19 सीटर विमान भी दिल्ली पहुंच चुका है। राज्य के लिए लाइसेंस हासिल करने वाली एयरलाइंस कंपनी एयर ओडिशा की तैयारी सेवा शुरू कर देने की है। कंपनी पहले चरण में एक विमान के जरिए सरगुजा से रायपुर होते हुए बस्तर तक सेवा देगी। एयर ओडिशा के डॉयरेक्टर कैप्टन संतोष पानी ने छत्तीसगढ़ के लिए 19 सीटर विमान पहुंचने की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि पहले गुजरात फिर छत्तीसगढ़ में विमान सेवा शुरू कर देंगे। विमान विभाग ने भी तैयारी पूरी कर ली है। अंबिकापुर और जगदलपुर में भी एयरपोर्ट तैयार हो गए हैं। आपको बता दें उड़ान योजना के लिए नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने बीते साल  128 रूटों पर विमान सेवा शुरू करने के लिए पांच एयरलाइंसों का चयन किया था। केंद्र की योजना ‘उड़ान’ के लिए राज्य सरकार और एयरलाइंस कंपनी दोनों ही घरेलू विमान सेवा के लिए तैयार हैं। सरगुजा और जगदलपुर दोनों एयरपोर्ट ने लाइसेंस के लिए आवेदन कर दिया है। विमान सेवा शुरू होते ही राज्य के एक कोने से दूसरे कोने तक का सफर केवल 2500 रुपए में महज पौन से एक घंटे में तय हो जाएगा। विमान विभाग के अफसरों के अनुसार अभी केवल एक ही विमान से सेवा दी जाएगी। एक ही प्लेन दिन में एक बार सरगुजा और बस्तर का चक्कर लगाएगी। बाद में, बिलासपुर, रायगढ़ की अनुमति मिलने के बाद फिर प्लेन की संख्या बढ़ाई जाएगी। प्रदेश में निजी एयरलाइंस एयर ओड़िशा से करार किया गया है। यह एयरलाइंस 20 सीटर विमान उपलब्ध कराएगी। चारों जगहों की उड़ान के लिए किराया 25 सौ रुपए रखा गया है। यह योजना केंद्र सरकार ने रिजनल कनेक्टिविटी योजना के तहत देश के ऐसे एयरपोर्ट का चयन किया है, जो पहले से मौजूद हैं। लेकिन कभी-कभार ही उपयोग में आते हैं। देश भर में ऐसे 32 एयरपोर्ट हैं जो वीआईपी आगमन के लिए कई दशकों से उपयोग में लाए जाते रहे हैं। इनमें प्रदेश के चार एयरपोर्ट जगदलपुर, बिलासपुर,रायगढ़ और अंबिकापुर हैं।

Facebook Comments


Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*