डिजिटल भारत बनाने के लिए शुरू हुआ प्रयास छत्तीसगढ़

रायपुर। डिजिटल भारत बनाने की दिशा में छत्तीसगढ़ ने एक लंबी और महत्वपूर्ण छलांग लगाई है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और केंद्रीय संचार राज्यमंत्री मनोज सिन्हा की उपस्थिति में राजधानी रायपुर में भारत नेट परियोजना के दूसरे चरण के लिए एमओयू हुआ। इस परियोजना के अंतर्गत गांवों और शहरों के बीच की डिजिटल दूरी को कम करने के लिए इंटरनेट कनेक्टिविटी के विस्तार पर कार्य किया जाएगा। इस मौके पर प्रदेश के मुखिया डॉ. रमन सिंह ने कहा कि आज का दिन छत्तीसगढ़ के लिए बेहद ही खास है क्योंकि छत्तीसगढ़ एक नए युग में प्रवेश कर रहा है। मुख्यमंत्री ने अपना एक अनुभव साझा करते हुए बताया कि जब वे अबूझमाड़ गए थे तो वहां के लोगों ने मोबाइल कनेक्टिविटी की मांग की थी। उन्होंने कहा कि जब वहां मोबाइल कनेक्टिविटी पहुंचेगी, तभी तो सही विकास होगा। इतना ही नहीं मुख्यमंत्री ने अपनी इच्छा जाहिर करते हुए कहा कि इस योजना के माध्यम से मैं प्रदेश के सभी 10 हजार ग्राम पंचायतों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करना चाहता हूं। वहीं केंद्रीय संचार राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि छत्तीसगढ़ के इतिहास में ये दूसरी महत्वपूर्ण तारीख होगी। अटल जी ने जब हाईवे के लिए काम किया तब भी इससे छत्तीसगढ़ को काफी लाभ पहुंचा। अब जब हम इन्फॉर्मेशन हाईवे पर काम कर रहे हैं तो इससे भी छत्तीसगढ़ के विकास में काफी मदद मिलेगी। उन्होंने बताया कि भारत नेट के पहले चरण में 1 लाख ग्राम पंचायतों का काम पूरा हो चुका है। अब दूसरे चरण में 1.5 लाख ग्राम पंचायतों को इससे जोड़ा जा रहा है। उन्होंने कहा कि दूसरे चरण में 8 राज्य खुद इस काम को कर रहे हैं, जिसमें छत्तीसगढ़ सबसे ऊपर है। इस दौरान केंद्रीय मंत्री सिन्हा ने कहा कि डॉ. रमन सिंह अब तक चावल वाले बाबा के नाम से जाने जाते थे, मगर अब वे मोबाइल वाले बाबा के नाम से भी जाने जाएंगे। आपको बता दें कि इस योजना के द्वारा 1624 करोड़ रुपए की लागत से 6 हजार पंचायत हाई स्पीड नेट कनेक्शन से सीधे जुड़ जाएंगे। वहीं भारत नेट योजना से पंचायतों को कनेक्टिविटी तो मिल जाएगी मगर सरकारी विभागों को इसके उपयोग के लिए प्रभावी कार्ययोजना बनाने की जरूरत होगी। बताया गया कि इस कार्य के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में 4 महीने में पूरी योजना तैयार करने के लिए एक कमेटी बनाई जाएगी

Facebook Comments


Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*